City State

पुलिस उप आयुक्त मुख्यालय में खेल: एक ही दिन में बदल दिए तैनाती के ऑर्डर

  • दो जगह डï्यूटी में फेरबदल, खुलासे से विभाग में मचा हडक़ंप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पुलिस के उप आयुक्त मुख्यालय में पैसा देकर डï्यूटी की बदली कहीं भी कराई जा सकती है। मुख्यालय में इन दिनों पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने का खेल चल रहा है। डï्यूटी में बदली के लिए कर्मचारी को महज दो, पांच या दस हजार रूपए देने होते हैं। पुलिस उप आयुक्त मुख्यालय से एक सिपाही की डï्यूटी के दो ट्रांसफर ऑर्डर जारी किए जाने की बात सामने आई है। डीसीपी मुख्यालय कार्यालय में तैनात एक बाबू और दरोगा मिलकर डï्यूटी की बदली का खेल खेल रहे हैं। वहीं पुलिस के आला अधिकारी इस बात से अंजान है।
कमिश्नरेट के पुलिस उप आयुक्त मुख्यालय का कार्यालय महानगर में है। सूत्रों के अनुसार इस कार्यालय में बड़े बाबू और एक दारोगा की मिलीभगत से डïयूटी लगाने के नाम पर दो, पांच या दस हजार की रिश्वत मांगी जाती है। बड़े बाबू ड्यूटी लगाने के नाम कार्यालय दौड़ाते हैं। वहीं कार्यालय में तैनात यह दारोगा खुद को डीसीपी का पीआरओ बताकर ड्यूटी लगाने के नाम पर रुपयों की मांग करते हैं। दरअसल, कमिश्नरेट के पुलिस उप आयुक्त मध्य के कार्यालय में तैनात आरक्षी अनुराग कुमार वर्मा का 17 जून को डï्यूटी के दो ट्रांसफर ऑर्डर जारी होने से पूरे विभाग में इसकी चर्चा है। सामूहिक तौर पर जारी की गई लिस्ट में आरक्षी अनुराग वर्मा की पोस्टिंग डीसीपी मध्य के कार्यालय से डीसीपी अपराध के कार्यालय में की गई लेकिन उसी दिन बाद में जारी हुए एक ने आदेश में उसकी पोस्टिंग गुमशुदगी सेल में कर दी गई। मामले को लेकर डीसीपी मुख्यालय अरुण कुमार श्रीवास्तव से बात की गई तो उन्होंने मामले को टालते हुए पहले ड्यूटी में बदली एक ही विभाग में होने की जानकारी दी। बाद में सिपाही द्वारा प्रार्थना पत्र देने पर उसकी बदली अन्य विभाग में करने की बात कही।

डीसीपी मुख्यालय ने कर दी थी वांटेड सिपाही को पोस्टिंग

डीसीपी मुख्यालय ने 17 जून को वांटेड चल रहे हेड कांस्टेबल दिलबहार सिंह यादव की पोस्टिंग सर्विलांस सेल मध्य में कर दी थी। यही नहीं उसी लिस्ट में मुख्यालय से जारी आदेश ने डीसीपी पूर्वी के कार्यालय में तैनात फौलाद खान का ट्रांसफर उत्तरी जोन में कर दिया। जबकि बीते 7 अप्रैल को उसका दिल का दौरा पडऩे से मौत हो गई थी। मामला तूल पकडऩे पर अधिकारियों ने आनन-फानन में आदेश निरस्त कर दिए।

कमलेश तिवारी हत्याकांड : दो आरोपियों पर लगा एनएसए

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पिछले साल शहर के नाका इलाके में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कार्रवाई करते हुए दो हत्यारोपियों पर एनएसए लगाया है। हत्यारोपी युसूफ खान पुत्र इशरत खान पठान निवासी फतेहपुर और सैयद आसिम अली पुत्र हातिम अली निवासी नागपुर पर जिला अधिकारी अभिषेक प्रकाश ने एनएसए लगाया है। लखनऊ कारागार में बंद दोनों हत्यारोपियों को जेल में ही एनएसए नोटिस की तामिल कराई गई है। शुरुआत में इस हत्याकांड में पुलिस ने गुजरात से तीन और उत्तर प्रदेश से दो लोगों को गिरफ्तार किया था। कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने 13 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया था। आरोपियों में से अशरफ और मोइनुद्दीन पर हत्या का आरोप है।
कमलेश तिवारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दिल दहला देने वाली जानकारी सामने आई थी। इसके मुताबिक हत्यारों ने कमलेश तिवारी पर 15 बार चाकुओं से वार किया था। इसके अलावा गला रेतने और गोली मारने का भी खुलासा हुआ था। कमलेश तिवारी की पीठ पर भी चाकुओं से वार के निशान पाए गए थे।

स हत्याकांड में पुलिस ने गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को पकड़ा था

कमलेश तिवारी हत्याकांड में यूपी पुलिस ने अक्टूबर में ही अशरफ और मोइनुद्दीन की तस्वीरें जारी कर दी थीं। इसके बाद उनकी तलाश भी तेज कर दी गई थी। पुलिस ने इन दोनों पर ढाई-ढाई लाख रूपए का इनाम भी घोषित किया था। गौरतलब है कि 18 अक्टूबर 2019 को कमलेश तिवारी की उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी। शुरुआत में इस हत्याकांड में पुलिस ने गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

मुख्तार अंसारी के करीबियों पर शिकंजा, पत्नी, भाइयों समेत कई को नोटिस

  • पीए रहे जाकिर समेत पांच का लाइसेंस किया जाएगा रद्द

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जेल में बंद बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के करीबियों पर शिकंजा कसता जा रहा है। आज मऊ पुलिस ने एक मामले में उनकी पत्नी, भाइयों समेत कई लोगों को नोटिस जारी किया है।
पुलिस के अनुसार अंसारी की पत्नी व उनके भाइयों समेत कई अन्य ने शस्त्र लाइसेंस पर बार-बार हथियार खरीदे। कारतूस खरीदे। कारतूस का विवरण नहीं देने पर इन लोगों को नोटिस जारी किया गया है। अंसारी के पीए रहे जाकिर समेत 5 का लाइसेंस रद्द किया जाएगा। लाइसेंस निलंबन कार्रवाई की प्रक्रिया प्रशासन ने शुरू कर दी है। रुद्र नारायण पर आम्र्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। गौरतलब है कि मऊ में दो दिन पहले मुख्तार अंसारी के गुर्गों की शह पर दो दशकों से चल रहे अवैध बूचडख़ाने पर छापेमारी कर पुलिस ने उसे बंद करा दिया था। मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं फरार तीन आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम भी घोषित कर रखा है। एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि नगर क्षेत्र में 20 सालों से अवैध रूप से नगर पालिका के जर्जर भवन में संचालित अवैध बूचडख़ाने पर दबिश देकर 11 लोगों को पकड़ा था। इनके सभी के विरूद्घ गैंगस्टर एक्ट दर्ज है। यह सभी अंसारी के करीबी थे।

गुना : हादसे में पंच दसानन जूना अखाड़ा के अध्यक्ष महंत गिरी सहित 5 की मौत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गुना। राजगढ़ जिले में एनएच-52 पर सडक़ हादसे में पंच दसानन जूना अखाड़ा के अध्यक्ष महंत सोमेश्वर गिरी सहित 5 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में चार लोग इंदौर के एक ही परिवार के हैं। पति-पत्नी और उनके दोनों बेटों की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटना में 4 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। महंत गिरी अपने साथियों के साथ अहमदाबाद से लखनऊ जा रहे थे।
जानकारी के अनुसार राजगढ़ में एनएच-52 पर सारंगपुर के पास बायपास पर वैगनार और इनोवा की आमने-सामने भीषण टक्कर हो गई। हादसे में वैगनार में सवार चारों लोगों की मौत हो गई। मृतक अमर सिंह, उनकी पत्नी सिया दुलारी, बेटा शैलेष (25 साल) और मोहित (14 साल) हैं। वैगनार में इंदौर का यादव परिवार सवार था, जो गुना से वापस अपने घर इंदौर लौट रहा था। वहीं दूसरी ओर इनोवा गाड़ी में सवार पंच दसानन जूना अखाड़ा के अध्यक्ष महंत सोमेश्वर गिरी अहमदाबाद से लखनऊ जा रहे थे। पुलिस जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *