City Crime

समाज में प्रदूषण फैला रही भाजपा: अखिलेश

  • वृक्षारोपण के नाम पर दिखावा कर रही सरकार
  • सपा के कार्यकाल में हुआ वन क्षेत्र का विस्तार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार से यह आशा नहीं की जा सकती है कि वह प्रदूषण मुक्त वातावरण बनाएगी। समाज में तमाम तरह के प्रदूषण फैलाने के लिए भाजपा ही जिम्मेदार है। पर्यावरण के संतुलन को बिगाड़े रखना भाजपा का प्रिय एजेंडा है। इसे वह हथियार की तरह राजनीति में इस्तेमाल करती है। भाजपा ने पिछले वर्षों में वृक्षारोपण का दिखावा भर किया। उनकी संख्या मुख्यमंत्री के दिव्य अंकगणित की भेंट चढ़ गई। कितने वृक्ष लगे और कितने जीवित बचे, इसका कहीं ब्यौरा उपलब्ध नहीं है।
उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार के कार्यकाल में करोड़ों की संख्या में व्यापक पैमाने पर वृक्षारोपण के कार्यक्रम चलाए गए थे। वे तमाम वृक्ष इसलिए जीवित बचे हुए हैं क्योंकि उनका रखरखाव बाद तक किया गया। समाजवादी सरकार में वन क्षेत्र का विस्तार हुआ था। लखनऊ के गोमतीनगर में स्थित डॉ. राममनोहर लोहिया पार्क और 400 एकड़ जमीन पर बना जनेश्वर मिश्र पार्क में देशी-विदेशी वृक्षों के साथ सुंदर फूलों की क्यारियां भी है। यह एशिया का सबसे बड़ा पार्क है। लखनऊ में गोमती के दोनों तटों का सौंदर्यीकरण हुआ, इसके रिवरफ्रंट की अलग शान है। देश का सबसे लम्बा ग्रीनफील्ड आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे भी समाजवादी सरकार की देन है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी और सरकार पर्यावरण के प्रति प्रारम्भ से ही गम्भीर और सजग थी इसलिए उसके कार्यकाल में ज्यादा से ज्यादा पर्यावरण संरक्षण के काम किए गए। पहले वृक्षारोपण में 5 फिट ऊंचे पेड़ लगाए जाते थे जबकि समाजवादी सरकार ने 16 फिट के वृक्षों का रोपण शुरू कराया। नदियों की सफाई के साथ तालाबों के सौंदर्यीकरण पर भी विशेष ध्यान दिया गया। बुन्देलखंड में एक दिन में 5 करोड़ वृक्षारोपण का रिकार्ड गिनीज बुक में दर्ज है। दुधवा नेशनल पार्क में गेस्टहाउस एवं कैन्टीन बनी। चरखारी महोबा सहित बुन्देलखण्ड में 100 तालाबों का जीर्णोद्धार और 7300 किलोमीटर नहरों का निर्माण हुआ। कन्नौज के लाख बहोसी पक्षी विहार का सुंदरीकरण हुआ।
उन्होंने कहा कि 2015-16 में अंतरराष्ट्रीय पक्षी महोत्सव मनाने के अलावा मथुरा वृंदावन के घाटों का विस्तार और लखनऊ के कुकरैल क्षेत्र में जैवविविधता तथा पर्यटन केन्द्र बना। समाजवादी सरकार में पर्यावरण की दृष्टि से महत्वपूर्ण कार्य साइकिल ट्रैक के निर्माण का था। भाजपा सरकार ने योजनाबद्ध तरीके से साइकिल टै्रक खत्म कर दिए। नोएडा, लखनऊ में शानदार साइकिल ट्रैक और इटावा से आगरा वाया बटेश्वर तक एशिया का पहला साइकिल हाइवे बना था, जिनका अब अता-पता नहीं है। समाजवादी सरकार में साइकिल ट्रैक, जांगिंग ट्रैक, वाकिंग ट्रैक, किड्स प्ले एरिया के साथ-साथ 500 मीटर पर पेयजल, टॉयलेट और पार्किंग की व्यवस्था भी की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *