Front Page Nation

बाबा रामदेव ने लॉन्च की कोरोना की आयुर्वेदिक दवा

  • सात दिन के अंदर बाजार में उपलब्ध होगी कोरोनिल
  • 280 लोगों पर हुआ ट्रायल, सौ फीसदी सफलता का दावा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। योग गुरु बाबा रामदेव ने आज कोरोना वायरस की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल लॉन्च कर दी। क्लीनिकल ट्रायल के बाद पतंजलि संस्थान ने यह दवा तैयार की है। यह दवा सात दिन के भीतर बाजार में उपलब्ध हो जाएगी।
बाबा रामदेव ने कहा कि पूरा देश और दुनिया जिस क्षण की प्रतीक्षा कर रहा था आज वो आ गया है। कोरोना की पहली आयुर्वेदिक दवा तैयार हो गई है। इस दवा से हम कोरोना की हर तरह की जटिलता को नियंत्रित कर पाए। इस दवा से तीन दिन के अंदर 69 फीसदी मरीज रिकवर हो गए यानी पॉजिटिव से निगेटिव हो गए। इस दवा के जरिए सात दिन में 100 फीसदी मरीज ठीक हुए हैं। इस दवा का ट्रायल 280 लोगों पर किया गया है। उन्होंने कहा कि यह दवा अगले सात दिनों में पतंजलि के स्टोर पर मिलेगी। इसके अलावा एक ऐप लॉन्च किया जाएगा, जिसकी मदद से ये दवा घर पर पहुंचाई जाएगी। वहीं आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि कोरोना की बीमारी जब से आई थी हम तभी से इस दवा को लेकर प्रयास कर रहे थे, अब ये हमारा प्रयास सफल हो गया है। दवा में अश्वगंधा, गिलोय, तुलसी, श्वसारि रस व अणु तेल हैं। यह दवा अपने प्रयोग, इलाज और प्रभाव के आधार पर राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी प्रमुख संस्थानों, जर्नल आदि से प्रामाणिक है। अमेरिका के बायोमेडिसिन फार्माकोथेरेपी इंटरनेशनल जर्नल में इस शोध का प्रकाशन भी हो चुका है।

ऐसे काम करती है दवा

आचार्य बालकृष्ण के मुताबिक दिव्य कोरोनिल टैबलेट में शामिल अश्वगंधा कोविड-19 के आरबीडी को मानव शरीर के एसीई से मिलने नहीं देता। इससे संक्रमण मानव शरीर की स्वस्थ कोशिकाओं में प्रवेश नहीं कर पाता। गिलोय संक्रमण को रोकता है। तुलसी का कंपाउंड कोविड-19 के आरएनए-पॉली मरीज पर अटैक कर उसके गुणांक में वृद्धि करने की दर को न सिर्फ रोक देता है बल्कि इसका लगातार सेवन उसे खत्म भी कर देता है। श्वसारि बलगम को बनने से रोकता है और बने हुए बलगम को खत्म कर फेफड़ों की सूजन कम कर देता है।

ये कंपनी बना रही दवा

पतंजलि का दावा है कि यह शोध संयुक्तरूप से पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट व हरिद्वार एंड नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, जयपुर द्वारा किया गया है। दवा का निर्माण दिव्य फार्मेसी, हरिद्वार और पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड, हरिद्वार द्वारा किया जा रहा है।

भारत-चीन तनाव के बीच पूर्वी लद्दाख दौरे पर रवाना हुए आर्मी चीफ

  • गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद हाई अलर्ट पर है भारतीय सेना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। गलवान घाटी में चीन की सेना से हिंसक झड़प के बाद उपजे हालात का जायजा लेने थलसेना अध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे दिल्ली से लद्दाख के लिए रवाना हो गए हैं। दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे थलसेना अध्यक्ष इस दौरान घाटी के हालात जाने के लिए कश्मीर भी जाएंगे। सेना अध्यक्ष पूर्वी लद्दाख की सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाले सैनिकों का उत्साह बढ़ाने के साथ फील्ड कमांडरों से बातचीत कर सुरक्षा परिदृश्य का जायजा भी लेंगे।
चीन के हिंसक हमले में 20 साथियों के शहीद होने से क्रोधित सैनिक बदला लेने के लिए तैयार हैं। सेना ने पूर्वी लद्दाख के हाट स्प्रिंग, डेमचौक, कायूल, फुक्के, डेपसांग, मुरगो व गलवान में सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है। पूर्वी लद्दाख में चीन से निपटने की तैयारी के बीच बातचीत भी चल रही है। सेना की 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरेन्द्र सिंह ने दक्षिण जिनझियांग जिला के चीफ मेजर जनरल लियु लिन से चुशुल-मोल्डो बॉर्डर पर्सनल हट में बैठक की। वायुसेना भी हाई अलर्ट पर है। वायुसेना ने तीन एडवांस लैडिंग ग्राउंड बनाई है। वायुसेना के फाइटर विमान व हेलीकॉप्टर दुश्मन पर नजर रखे हुए हैं।

प्रियंका के ट्वीट पर डीएम आगरा ने भेजा नोटिस, कांग्रेस आगबबूला

  • डीएम ने कांग्रेस महासचिव पर कोरोना को लेकर भ्रम फैलाने का लगाया आरोप
  • कांग्रेस बोली, सरकार के दबाव में काम कर रही है नौकरशाही

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आगरा के डीएम प्रभु एन सिंह ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को कोरोना पर झूठी खबर ट्वीट करने को लेकर नोटिस भेजा है। साथ ही 24 घंटे के अंदर गलत ट्वीट पर खंडन करने की मांग की है। वहीं नोटिस पर कांग्रेस आगबबूला हो गई है और नौकरशाही पर सरकार के दबाव में काम करने का आरोप लगाया है।
नोटिस में कहा गया है कि प्रियंका गांधी के गलत ट्वीट करने से लोगों में भ्रम फैला और कोरोना योद्धाओं के मनोबल को ठेस पहुंची है। कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह ने आरोप लगाया है कि सरकार के दबाव में प्रदेश की नौकरशाही काम कर रही है जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है, उसके खिलाफ नोटिस और केस दर्ज कर दिया जाता है। प्रियंका ने ट्वीट किया था, आगरा में 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोरोना मरीजों की मृत्यु हो गई। यूपी सरकार के लिए कितनी शर्म की बात है कि इसी मॉडल का झूठा प्रचार करके सच दबाने की कोशिश की गई। सरकार की नो टेस्ट-नो कोरोना पॉलिसी पर सवाल उठे थे, लेकिन सरकार ने उसका कोई जवाब नहीं दिया। अगर यूपी सरकार सच दबाकर कोरोना मामले में इसी तरह लगातार लापरवाही करती रही तो बहुत घातक होने वाला है। इसके बाद डीएम ने इस खबर को गलत बताया था।

नेता विरोधी दल राम गोविंद चौधरी कोरोना पॉजिटिव, भर्ती

  • लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में हुई थी संक्रमण की जांच

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में कोरोना की रफ्तार बढ़ती जा रही है। अब उत्तर प्रदेश विधानसभा में नेता विरोधी दल राम गोविंद चौधरी भी कोरोना वायरस की चपेट में हैं। उन्होंने लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच कराई। जहां पर सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनको मेदांता में भर्ती कराया गया था। आज उनको संजय गांधी पीजीआई के कोविड हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया है। राम गोविंद चौधरी की सोमवार को अचानक कमजोरी लगने के साथ बुखार और सांस लेने में तकलीफ के चलते परिजनों और सपाइयों ने शहीद पथ स्थित मेदान्ता अस्पताल में भर्ती कराया था। डॉक्टरों ने उनका इलाज शुरू करने के साथ ही खून और कोरोना की जांच करायी थी।